Tuesday, 24 July 2018

खून के बारे में 32 रोचक बातें जो आपको पता होना चाहिये.Amazing Facts About Blood In Hindi

स्वस्थ्य शरीर में खून की एक निश्चित मात्रा होती है.अगर किसी कारणवश इसकी मात्रा कम हो जाये तो हमें बहुत से परेशानियों का सामना करना पड़ता है और शरीर कई तरह के रोगों से घिर जाता है.

मनुष्य शरीर को सही तरह से काम करने में खून की अहम् भूमिका होती है.आज हम खून से जुड़ी कुछ ऐसी बातें आपके साथ साझा करने वाले हैं,जिसे जान कर आप आश्चर्यचकित रह जायेंगे.

Khun Ke Bare Me Facts Hindi
खून से जुड़ी रोचक बातें


Amazing Facts About Blood In Hindi / खून से जुड़ी हैरान कर देने वाली रोचक बातें

  1. खून के मुख्यतः तीन भाग होते हैं लाल रक्त कणिकायें (Red Blood Cells), श्वेत रक्त कणिकायें (White Blood Cells) और प्लेटलेट्स (Platelets ).
  2. हिपेरिन प्रोटीन (Heparin Protein- Anti-Clotting Protein) के कारण शरीर के अंदर रुधिर का थक्का नहीं जमता है. 
  3. फाइब्रिनोजन प्रोटीन ( Fibrinogen Protein ) रुधिर का थक्का जमाने में सहायक होता है,जिससे घाव लगने पर खून कुछ देर बाद बहना बंद हो जाता है.
  4. हीमोफीलिया (अनुवांशिक रोग ) के रोगी में Fibrinogen Protein नहीं पाया जाता जिसके कारण रोगी को घाव लगने पर रक्त का स्राव नहीं रुकता है.
  5. Heparin और Fibrinogen Protein का निर्माण यकृत (Liver) में होता है.
  6. रक्तदान करने के 90-100 दिन के बाद दोबारा से Blood Donate किया जा सकता है.
  7. रक्तदान के 30 दिन के अन्दर ही खून का उपयोग कर लेना सर्वोत्तम होता है,वैसे 180 तक रक्तदान किये हुये खून को प्रयोग में लाया जा सकता है.
  8.  रुधिर वर्ग की खोज कार्ल लैंड स्टीनर( Karl Landsteiner ) ने किया था.
  9. भारत में सबसे अधिक रुधिर वर्ग " O " (लगभग 35 %) और सबसे कम " AB "(लगभग 7.5%) 
  10. उष्णकटिबंधीय इलाकों में सामान्यतः Blood Group " O " सबसे ज्यादा पाया जाता है.
  11. रेसस प्रोटीन( Rhesus Protein ) की उपस्थिति के आधार पर ही रुधिर को धनात्मक या ऋणात्मक (Rh+ या Rh-) भाग में वर्गीकृत किया गया है.Landsteiner और Wiener ने सर्वप्रथम इस प्रोटीन को Rhesus नामक बन्दर के खून में पाया था,इसलिए इस प्रोटीन का नाम Rhesus Protein रखा गया.
  12. Red Blood Cells का निर्माण अस्थि मज्जा (Bone Marrow) में होता है.
  13. बुढ़ापे की अवस्था में RBC का निर्माण प्लीहा (Spleen) और यकृत (Liver ) में होता है.
  14. RBC का कब्रगाह प्लीहा (Spleen) को कहा जाता है.
  15. बिना RBC के खून को लसिका (Lymph) कहते हैं.
  16. लसिका शरीर के रोग प्रतिरोधन क्षमता के लिए उत्तरदायी होता है.
  17. लाल रक्त कणिका का वैज्ञानिक नाम Erythrocytes है.
  18. श्वेत रुधिर कणिका(WBC) का वैज्ञानिक नाम ल्यूकोसाइट्स (Leukocytes) है.
  19. WBC अन्य रुधिर कणिका की अपेक्षा आकर में सबसे बड़ी होती है.
  20. WBC का निर्माण भी अस्थि मज्जा में होता है.
  21. स्वस्थ्य शरीर में WBC की संख्या 5 हजार से 10 हजार तक होती है.
  22. WBC का औसत जीवन काल 2 से 3 दिन तक होता है.
  23. RBC और WBC का अनुपात 600:1 होता है,यदि खून में WBC की संख्या अधिक हो जाये तो यह खून में उपस्थित RBC को ही ख़त्म करने लगता है जिससे Blood Cancer हो जाता है.
  24. WBC की कोशिकाओं में केन्द्रक होता है.
  25. खून का थक्का (Blood Clotting) ज़माने में प्लेटलेट्स (Thrombocytes) की भूमिका होती है.
  26. डेंगू बुखार एक वायरल रोग है जिसमें प्लेटलेट्स की संख्या अस्वाभाविक रूप से कम होने लगती है.
  27.  प्लेटलेट्स का औसत जीवन काल सिर्फ 8-10 दिन होता है.
  28. प्लेटलेट्स का भी निर्माण अस्थि मज्जा में होता है.
  29. आपको जान कर हैरानी होगी कि प्लेटलेट्स सिर्फ मानव के ही रुधिर में पाया जाता है.
  30. आकर के हिसाब से प्लेटलेट्स सबसे छोटा होता है.(WBC > RBC > Platelets ).
  31. संख्या के हिसाब से  RBC > Platelets > WBC.
  32. जीवन काल के हिसाब से RBC > Platelets > WBC.
कुछ और रोचक तथ्य जो आपको पता होना चाहिये
आशा करता हूँ रुधिर के बारे में रोचक फैक्ट्स पढ़ कर आपको कुछ नया जानने को जरुर मिला होगा.अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी ज्ञानवर्धक लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट कर के पूछ सकते है. या फिर हमें rochakfacts@gmail.com पर मेल भी कर सकते हैं.

धन्यवाद.
 

0 comments: